बेशर्म नेता! कई बार होई बत्ती गुल्ल… फेर भी खादियां जुत्तियां नूं जांदा भुल्ल

बेशर्म नेता! कई बार होई बत्ती गुल्ल… फेर भी खादियां जुत्तियां नूं जांदा भुल्ल

गुस्ताखी माफ जनाब

जालन्धर (ब्यूरो)

शहर दा आपणे-आप नूं वड्डा नेता समझण वाला अज कल काफी चर्चा च बणिया होया है। वैसे एह छोटियां अक्खां वाला चाहे आपणे आप नूं नेता समझदा है पर इसनूं एह नहीं पता है लोक एस नूं एजैंट ही कहंदे ने। एजैंट वी ओह जिहड़ा कई बार आपणा ते आपणी पार्टी दा मूंह काला करवा चुक्का है। हुण करदे हां मुद्दे दी…

गुस्ताखी माफ जनाब

कई बार गुल हो चुक्की बत्ती …

आपणे आप बने इस नेता दी कई बार बत्ती गुल हो चुकी है। बत्ती दे नाल-नाल जुत्तियां नाल भी कई बार इसनूं नवाजया जा चुक्का है। आपणे आप नूं एमएलए दे बराबर समझण वाले इस बत्ती गुल वाले नेता नूं कई बार जुत्तियां नाल सनमानित कीता जा चुक्का है पर बेशरम किस्म दा इह नेता फेर भी आपणियां गंदीयां हरकतां तों बाज नहीं आउंदा।

गुस्ताखी माफ जनाब

अधिकारियां नूं लैंदा हत्थां च…

वाह रे.. नेता जी तुसीं आपणी टौहर बनाउण दे चक्कर च कई बार जुत्तियां खा चुके हो पर फिर भी तुहाडी अगे-अगे होण दी आदत नहीं जा रही। दस्स दईये कि अधिकारियां नूं आपणे हत्थां च लैण लई इह तरह दी कोशिश करदा है। इह भी है कि इह महकमे दे बहुत सारे अधिकारियां नूं आपणे बस्स च कर भी लैंदा है। पर इह भी दस्स दिंदे हां कि इसने इक अधिकारी नूं बस्स च करण दी कोशिश कीती सी ते रात हवालात च गुजारी सी ते जुत्तियां भी खादीयां सन। इह अधिकारियों नूं बस्स च करण लई किहड़ीयां किहड़ीयां चालां खेडदा है, उह भी जरूर दस्सांगे पर थोड़ा जिहा इन्तजार करो….। गुस्ताखी माफ जनाब

अग्गे दस्सांगे इसदे परिवार दी कहानी….