लो जी कर लो गल्ल.. सिद्धु गुस्से वाला अज-कल चला रेहा ‘इंस्टीचियूट’!

लो जी कर लो गल्ल.. सिद्धु गुस्से वाला अज-कल चला रेहा ‘इंस्टीचियूट’!

(लखबीर)
लो जी कर लो गल्ल… जिवें आखोती बाबियां ने आपनी बल्ले-बल्ले करवाउण लई आपने कोल चेले रखे हुंदे हन, उसे तरां जिले दा इक मुलाजिम भी करदा आ रेहा है। इह कोई होर नहीं बल्की ओही है जिसदे नक्क ते हमेशा गुस्सा रहंदा है ते जिसनूं आपणी वाह-वाह करवाउण दा भी पूरा शौक पै चुक्का है। जी हां, असीं गल्ल कर रहे हां सिद्धु गुस्से वाले दी। इसने आपने हेठां एक-दो नहीं बल्की अद्धा दर्जन तों वद्ध चेले-चपाटे पाले होए हन। सिद्धु गुस्से वाले ने सेवा-पानी करवाउण दे शौक कारण दफ्तर च चेलियां नूं भर्ती कीता होया है। इह भी दस्स दईए कि इह चेले भी कोई सरकारी नहीं बल्की प्राइवेट ही रखे होए ने। जिथे इक पासे सरकार ने प्राइवेट करिंदियां नूं दफ्तरां च न रखण दीयां हदायतां जारी कीतीयां होईयां हन, उत्थे दूजे पासे इसने दफ्तर च फौज भर्ती कीती होई है। हैरानी दी गल्ल है कि इहनां चेलियां नूं तनखाहां किथों मिल रहीयां हन ते कौन दिंदा आ रेहा है। जे सिद्धु गुस्से वाला कोई रिश्वतखोरी दा कम्म नहीं करदा तां इहनां चेलियां नूं तनखाहां आपने कोलों दे रेहा है पर इहनां कोलों कम्म की करवाउंदा है, इह भी हैरान करन वाली गल्ल है। सवाल इह भी है जे सिद्धु गुस्से वाला तनखाह नहीं दिंदा तां इसदे चेले बिना खर्चे तों कम्म किदां कर रहे हन। इसतों साबित हुंदा है कि जां तां इसदे चेले गलत ढंग नाल दफ्तर च कम्म करदे हन जां फेर इह आपनी हेराफेरी वाली कमाई चों इहनां नूं हिस्सा दिंदा आ रेहा है। इक संस्था अनुसार इसदे चेलियां दी फौज दीयां फोटोयां जारी करके सीनियर अधिकारियां कोलों जवाब मंगया जावेगा कि इसनूं चेले रखण की परमिशन किस बेस ते दित्ती गई है।

गुस्ताफी माफ पर सच्च है

सिद्धु गुस्से वाला अज-कल लगा रेहा ‘कलासां’…

वाह बई वाह… सिद्धु गुस्से वाला कमाल कर रेहा है…। पता चलिया है कि सिद्धु गुस्से वाला अज-कल आपने दफ्तर च कलासां लगा रेहा है, उह भी आपने गुआंढी साथी नूं दफ्तरां दे दाअ-पेच सिखाउण दियां। चर्चा बनी होई है कि नवें आए गुआंढी नूं आपने वांग कम्म करन दीयां तरकीबां सिखा रेहा है, जिस कारण नवें गुआंढी दी भी खूब खिल्ली उड रही है। चर्चा बनी होई है कि जां तां नवां गुआंढी सिद्धु गुस्से वाले दा फु… खिच्च रेहा जां फिर सच्ची उह सारे कम्मां तों अनजान है। वैसे इस तरां दी गेम सिद्धु गुस्से वाला पहलां भी बहुत बार कर चुक्का है।

गुस्ताफी माफ पर सच्च है

इसदा कुआरा बुड्डा चेला ते लाल परी दा शौकीन चेला भी काफी चर्चा च बने होए हन.. जल्दी करांगे खुलासा…।