सरकार के इस कदम से कर्ज लेने वाली ऐसी कंपनियों को मिलेगी राहत जानिए कैसे
Know this, how will such companies taking loans from the government get relief

सरकार के इस कदम से कर्ज लेने वाली ऐसी कंपनियों को मिलेगी राहत जानिए कैसे

नई दिल्ली

केंद्र सरकार इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड के तहत कई कंपनियों को राहत देने की योजना बना रही है। निर्माला सीतारमण ने बताया कि दिवाला कार्रवाई को और 3 महीनों के लिए निलंबित रखने का प्लान बनाया है। सरकार के इस कदम से कर्ज लेने वाली ऐसी कंपनियों को राहत मिलेगी। जिनका कामकाज कोरोनावायरस की वजह से प्रभावित हुआ है।

वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा कि सरकार ने कंपनियों और लोगों की मदद के लिये कई उपाय किये हैं। जिसमें कर भुगतान की तारीख को आगे बढ़ाया जाना भी शामिल है। सीतारमण ने कहा न केवल अनुपालन के मामले में बल्कि कराधान से संबंधित भुगतान की समयसीमा आगे बढ़ाकर भी राहत दी गयी है। इन सबका मकसद यह सुनिश्चित करना है कि किसी को कठिनाई नहीं हो।

For News and Advertisement

आत्मनिर्भर पैकेज के तहत

उन्होंने बताया कि आत्मनिर्भर भारत पैकेज के तहत सरकार ने आईबीसी के तहत कार्रवाई शुरू करने के मामले में फंसे कर्ज की न्यूनतम सीमा एक लाख रुपये से बढ़ाकर एक करोड़ रुपये कर दी थी। इससे मुख्य रूप से सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यमों (MSMEs) को कर्ज लौटाने में चूक को लेकर दिवाला कानून के तहत किसी भी तरह की कार्रवाई से राहत मिलेगी।

मार्च 2021 तक मिल सकती है छूट

सीतारमण ने कहा कि इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड (IBC) के तहत नया मामला लाने की कार्रवाई को निलंबित रखने की मियाद को भी 25 दिसंबर से और तीन महीने के लिए यानी 31 मार्च 2021 तक निलंबित किया जा सकता है।

For News and Advertisement

जून में लाया गया था IBC

नई इन्सॉल्वेंसी कार्रवाई को निलंबित रखने को लेकर जून में अध्यादेश लाया गया था। यह 25 मार्च से प्रभाव में आया। उसी दिन से देश भर में कोविड19 को फैलने से रोकने के लिए ‘लॉकडाउन’ लगाया गया था। संसद ने सितंबर में आईबीसी में संशोधन से जुड़े विधेयक को मंजूरी दे दी जिसने अध्यादेश का स्थान लिया।

 

 

Know this, how will such companies taking loans from the government get relief