कांग्रेसी कौंसलर के दफ्तर से चंद कदमों की दूरी पर बन रही अवैध मार्किंट

कांग्रेसी कौंसलर के दफ्तर से चंद कदमों की दूरी पर बन रही अवैध मार्किंट

जालन्धर (लखबीर)

नगर निगम का खजाना खाली है तथा शहर में अवैध कालोनियों व अवैध इमारतों की धड़ल्ले से ऊसारियां जारी हैं। लोगों की मानें तो काग्रेंस के राज में उसी के कौंसलरों की शह पर शरेआम आम अवैध इमारतें खड़ी हो रही हैं, जिस ओर न तो निगम का ध्यान जा रहा है तथा न ही हलका विधायक ही इस ओर नजर घुमाने की कोशिश ही कर रहे हैं। इसी तरह वार्ड नंबर 61 के अमन नगर सोडल रोड के साथ लगते बसंत नगर में अवैध मार्किट बनाई जा रही है। पता चला है कि उक्त मार्किट एक प्रापर्टी डीलर द्वारा बनाई जा रही है। इसी डीलर ने अभी एक महीने पहले ही 8-10 दुकानों पर लैंटर डाला है, जिसे भी नगर निगम से पास नहीं करवाया गया है। अब उसने उन्हीं दुकानों से कुछ दूरी पर नई अवैध मार्किट बनानी शुरू कर दी है।

कांग्रेसी कौंसलर के दफ्तर से चंद कदमों की दूरी पर…

हैरानी की बात है कि जहां एक ओर प्रत्येक आम नागरिक को अवैध रूप से तैयार हो रही मार्किट संबंधी जानकारी है पर वहीं इलाका कौंसलर को इस बारे कुछ भी पता नहीं है। वह भी कौंसलर के दफ्तर व घर से कुछ ही कदमों की दूरी पर बन रही है। बतादें कि इससे पहले भी जो अवैध दुकानें बनी थीं, वह भी इसी वार्ड के अधीन आती हैं। उन पर भी कोई कार्रवाई नहीं हो सकी।

आखिर क्यों नहीं खुल रही आंखें…

लोगों की मानें तो अवैध इमारतें इलाका कौंसलर की नजर से बचा कर नहीं बनाई जा सकती। अगर कोई चुपके-चुपके इस तरह अवैध दुकानें या मार्किट बना भी लेता है तो उसके खिलाफ कौंसलर को खुद कार्रवाई के लिए निगम को लिखना चाहिए ताकि कोई ओर इस तरह अवैध काम न कर सके। सवाल है क्या उक्त कांग्रेसी कौंसलर इस मार्किट या पहले से बन चुकी दुकानें के खिलाफ कार्रवाई करवाते हैं या फिर वोटों की राजनीति होती रहेगी।

नार्थ में हो रहा हर तरह का अवैध कारोबार : भंडारी

इस संबंधी पूर्व विधायक केडी भंडारी ने कहा कि नार्थ हलके का रब्ब ही राखा है। गोलीबारी, गुंडागर्दी, अवैध ऊसारियों तथा कई तरह के अन्य अवैध कारोबार का पूरा बोलबाला हो चुका है। उन्होंने कहा कि जब से कांग्रेस सत्ता में आई है, तब से नार्थ हलका इस तरह की दलदल में धंसता ही जा रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेसी को अवैध मार्किट बनती दिखाई नहीं देंगी क्योंकि वह वोटों की राजनीति ने उनकी आंखों पर पट्टी बंधवा दी है।

अवैध कामों के खिलाफ कार्रवाई के लिए हमेशा तैयार : खोसला

इस संबंधी कौंसलर पति माइक खोसला से बात की तो उन्होंने इस मार्किट संबंधी किसी तरह की जानकारी न होने की बात कही है। उन्होंने कहा कि निगम का खजाना खाली हो चुका है तथा अगर इसी तरह अवैध मार्किटें, इमारतें या दुकानें बनती रहेंगी तो निगम कभी घाटा पूरा नहीं कर पाएगा। इसलिए उक्त मार्किट संबंधी वह खुद कार्रवाई करने के लिए अधिकारियों पर जोर देंगे।