CBSE बोर्ड परीक्षाएं 4 मई से 10 जून तक, जानिए सब कुछ
CBSE board exams from May 4 to June 10, know everything

CBSE बोर्ड परीक्षाएं 4 मई से 10 जून तक, जानिए सब कुछ

नई दिल्ली

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने बृहस्पतिवार को घोषणा की कि केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षाएं चार मई से 10 जून 2021 तक कक्षा आयोजित करेगा तथा इनके परिणाम 15 जुलाई 2021 तक घोषित कर दिए जाएंगे।

प्रैक्टिकल परीक्षाएं एक मार्च से

उन्होंने कहा कि प्रैक्टिकल परीक्षाएं एक मार्च से होंगी। प्रयोगात्मक परीक्षाएं आम तौर पर जनवरी में होती हैं और लिखित परीक्षाएं फरवरी में शुरू होती हैं तथा मार्च में संपन्न होती हैं। हालांकि, इस बार परीक्षाएं कोविड-19 महामारी की वजह से विलंब से होंगी।

For News and Advertisement

10वीं और 12वीं की परीक्षाएं चार मई से 10 जून तक

निशंक ने कहा कि कक्षा 10 और 12 की परीक्षाएं चार मई से 10 जून तक होंगी।  उन्होंने कहा कक्षा 10 एवं 12 की बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम 15 जुलाई, 2021 तक घोषित कर दिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि प्रयोगात्मक परीक्षाएं 1 मार्च, 2021 से शुरू होंगी।

दोनों कक्षा की परीक्षा का कार्यक्रम जल्द जारी

अनेक स्कूल छात्रों को तैयार रखने के लिए पहले ही पूर्व-बोर्ड परीक्षाएं ऑनलाइन आयोजित कर चुके हैं। मंत्री ने बताया कि दोनों कक्षाओं की परीक्षा का कार्यक्रम जल्द ही जारी किया जायेगा। निशंक ने कहा कि हम 25 देशों में सीबीएसई स्कूलों में छात्रों की समस्याओं के समाधान के लिये काम कर रहे हैं और इसके बारे में जल्द ही अवगत कराया जायेगा।

बोर्ड परीक्षाएं ऑनलाइन नहीं, लिखित माध्यम में

सीबीएसई ने इस महीने के शुरू में घोषणा की थी कि 2021 में बोर्ड परीक्षाएं ऑनलाइन नहीं, लिखित माध्यम में आयोजित की जाएंगी। कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए देशभर में वर्ष 2020 में स्कूल बंद कर दिए गए थे। कुछ राज्यों में इन्हें 15 अक्टूबर से आंशिक तौर पर खोल दिया गया था।

2020 में बोर्ड परीक्षाएं मार्च के मध्य में स्थगित, बाद में रद्द

हालांकि कुछ राज्यों ने संक्रमण के मामलों में वृद्धि के चलते स्कूलों को बंद रखने का फैसला किया है। हाल ही में पोखरियाल ने घोषणा की थी कि 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं फरवरी तक नहीं होंगी। वर्ष 2020 में बोर्ड परीक्षाएं मार्च के मध्य में स्थगित करनी पड़ी थीं। बाद में इन्हें रद्द कर दिया गया था और परिणाम की घोषणा वैकल्पिक आकलन योजना के आधार पर घोषित की गई थी।

विभिन्न पक्षकारों से चर्चा के बाद निर्णय

वहीं, सीबीएसई के परीक्षा नियंत्रक संयम भरद्वाज की ओर से जारी अधिसूचना में कहा गया है कि चूंकि छात्रों, शिक्षकों, स्कूलों द्वारा कोविड-19 महामारी के कारण अभूतपूर्व स्थिति का सामना किया जा रहा है। ऐसे में बोर्ड ने छात्रों के लिये परीक्षा के अनुकूल वातावरण तैयार करने के लिये विभिन्न पक्षकारों से चर्चा के बाद निर्णय किया है कि 10वीं एवं 12वीं बोर्ड परीक्षा चार मई से शुरू होगी।

For News and Advertisement

सीबीएसई की वेबसाइट पर दी जानकारी को मानें सटीक

अधिसूचना में कहा गया है कि समयसारणी के बारे में जानकारी सीबीएसई की वेबसाइट पर उपलब्ध करायी जायेगी। सोशल मीडिया या अन्य प्लेटफार्मो पर उपलब्ध जानकारी को तब तक सही नहीं माना जाना चाहिए जब तक यह सीबीएसई की वेबसाइट पर उपलब्ध नहीं हो।

परीक्षाएं कोविड-19 महामारी की वजह से विलंब

प्रयोगात्मक परीक्षाएं आम तौर पर जनवरी में होती हैं और लिखित परीक्षाएं फरवरी में शुरू होती हैं तथा मार्च में संपन्न होती हैं। हालांकि, इस बार परीक्षाएं कोविड-19 महामारी की वजह से विलंब से होंगी। पोखरियाल ने कहा कि स्कूलों को एक मार्च से प्रयोगात्मक परीक्षाएं करने की अनुमति होगी। दोनों कक्षाओं की डेटशीट जल्द जारी की जाएगी।

कुछ राज्यों में स्कूल को 15 अक्टूबर से आंशिक तौर पर खोला

पोखरियाल ने कहा कि कक्षा 10 और 12 की परीक्षा की डेटशीट जल्द जारी की जाएगी। परिणामों की घोषणा 15 जुलाई तक कर दी जाएगी। कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए देशभर में वर्ष 2020 में स्कूल बंद कर दिए गए थे। कुछ राज्यों में इन्हें 15 अक्टूबर से आंशिक तौर पर खोल दिया गया था। हालांकि कुछ राज्यों ने संक्रमण के मामलों में वृद्धि के चलते स्कूलों को बंद रखने का फैसला किया है।

 

 

 

CBSE board exams from May 4 to June 10, know everything