ड्रग्स मामले में बॉलीवुड एक्टर अर्जुन रामपाल NCB के सामने हुए पेश
Bollywood actor Arjun Rampal appeared before NCB in drugs case

ड्रग्स मामले में बॉलीवुड एक्टर अर्जुन रामपाल NCB के सामने हुए पेश

मुंबई

बॉलीवुड ड्रग्स मामले में अर्जुन रामपाल ने NCB ऑफिस में अपनी हाजिरी दर्ज कराई है। एक्टर 21 दिसंबर को करीब 11 बजे नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के ऑफिस पहुंचे। जहां उनसे तीखे सवाल किए जा रहे हैं। खबरों के मुताबिक बॉलीवुड ड्रग्स मामले में एक्टर अर्जुन रामपाल के खिलाफ कुछ नए सबूत मिले हैं। जिसके मद्देनजर NCB ने एक्टर को दोबारा पूछताछ के लिए बुलाया है। इससे पहले अर्जुन रामपाल को 16 दिसंबर को ही NCB के सामने पेश होना था, लेकिन एक्टर किसी कारणवश हाजिर नहीं हो पाए।

For News and Advertisement

16 दिसंबर को एएनआई ने ट्वीट कर बताया था कि अर्जुन रामपाल ने एजेंसी के सामने पेश होने के लिए 21 दिसंबर का वक्त मांगा है। अर्जुन रामपाल इस मामले में पूछताछ के लिए एक बार पहले भी पेश हो चुके हैं। सूत्रों के मुताबिक गिरफ्तार हुए ड्रग पैडलरों से एक्टर के खिलाफ कुछ नए सबूत मिले हैं। 13 अक्टूबर को NCB के सामने दिए गए अपने बयान में एक्टर ने साफ तौर पर ड्रग्स लेने से इंकार कर दिया था और कहा था। ड्रग्स से मेरा कोई लेना देना नहीं है। मेरे आवास पर जो दवाइयां मिलीं थीं, उसकी पर्ची मेरे पास है और पर्ची को एनसीबी अधिकारियों के सुपुर्द किया जा रहा है।

For News and Advertisement

 

वहीं ताजा रिपोर्ट्स की मानें तो NCB ने अर्जुन रामपाल की लिविंग पार्टनर गैब्रिएला डेमेट्रिएड्स के भाई एगीसलियोस डेमेट्रिएड्स के जब्त मोबाइल के व्हाट्सअप चैट को फॉरेंसिक टीम के माध्यम से रिट्रीव किया है। जिसमें कई अहम चैट्स इस ओर इशारा कर रहे हैं कि यह बॉलीवुड में ड्रग्स का बड़ा जाल फैला रहा था। जिसके जरिए यह मोटी कमाई कर सके। NCB सूत्रों के मुताबिक साउथ अफ्रीकन नागरिक एगीसलियोस डेमेट्रिएड्स लॉकडाउन के दौरान ही टूरिस्ट वीजा पर भारत आया था और यह लॉकडाउन के दौरान अपनी गर्लफ्रेंड के साथ मुम्बई के पॉश खार इलाके में रहता था। गौरतलब है कि इसी इलाके व इसके आसपास कई बॉलीवुड सेलेब्स भी रहते हैं। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के बड़े अधिकारी के मुताबिक एगीसलियोस डेमेट्रिएड्स भारत से ड्रग्स विदेशों में निर्यात करने की तैयारी में था। 

 

 

Bollywood actor Arjun Rampal appeared before NCB in drugs case