कामचोर मुलाजिम…जोड़ी ब्लैक एडं व्हाइट की, फिल्में देखतीं रंगीन…

कामचोर मुलाजिम…जोड़ी ब्लैक एडं व्हाइट की, फिल्में देखतीं रंगीन…

जालन्धर (लखबीर)

सरकारी दफ्तरों के कामचोर मुलाजिमों में से सब रजिस्ट्रार दफ्तर-1 के एक आरसी द्वारा लोगों को इग्नौर करके मोबाइल पर हमेशा वयस्त रहने की चर्चा लगातार तूल पकड़ती जा रही है। रोजाना न्यूज 24 में प्रकाशित खबर के आधार पर शहर की सिरमौर संस्था द्वारा सीनियर अधिकारियों को शिकायत सौंपने की तैयारी की जा रही है। इतना ही नहीं आरसी द्वारा रखे प्राइवेट करिंदे द्वारा सरकारी रिकार्ड से खेले जा रहे खेल का भी पर्दाफाश किया जाएगा।

ठग्गी के बहुत मशहूर हैं…

लोगों अनुसार सब रजिस्ट्रार दफ्तर-1 में ब्लैक एडं व्हाइट की जोड़ी बहुत ही मशहूर है। यह जोड़ी कोई ओर नहीं आरसी व प्राइवेट करिंदे की है, जो लगातार रगड़े पर रगड़ा लगाती आ रही है। चाहे प्राइवेट करिंदा आरसी की आंखों में धूल झौंक कर लूट मचाता आ रहा है पर आरसी भी आपने कई तरह के काम इसी के सहारे निकलवाता आ रहा है।

वसीका नवीसों से भरवाता है तेल…

प्राइवेट करिंदे की बैकग्राउंड चाहे कोई ज्यादा मजबूत नहीं है तथा कोई समय था जब वह आपने शहर से दफ्तर तक पहुंचने के लिए बसों व आटो के धक्के खाता रहा है पर अब उसे गाड़ियों का शौक पड़ चुका है। ठग्गी की कमाई से इसने गाड़ियां खरीद लीं पर इन गाड़ियों में आज भी पैट्रोल भरवाने के लिए वसीका नवीसों को ही वगार डालता आ रहा है। इतना ही नहीं आपनी गाड़ी की बजाए कई बार वसीका नवीसों की गाड़ियां भी कई-कई दिनों के लिए रख लेता है।

जोड़ी ब्लैक एडं व्हाइट, फिल्में देखती रंगीन

हैरानी की बात है कि चाहे यह जोड़ी ब्लैक एडं व्हाइट की है पर इन्हें ड्यूटी के दौरान रंगीन फिल्में देखने का शौक पक्का लगा हुआ है। रंगीन फिल्में देखने के शौक को पूरा करने के लिए यह इस बात की भी प्रवाह नहीं करते की काउंटर के दूसरी ओर लोगों की भीड़ लगी हुई है।

नहीं कर सकता रजिस्ट्रियों का काम…

लोगों व मीडिया को गुमराह करने का आदी प्राइवेट करिंदा जिस कंपनी अधीन काम करने की बात करता है, वह भी कोरा झूठ है। प्राइवेट करिंदा पीएलआरएस कंपनी का आपने आप को मुलाजिम बताता है जबकि वह ठेके पर काम करता है तथा वह क्या कर सकता है तथा क्या नहीं, इसका भी आने वाले दिनों में पूरा खुलासा किया जाएगा।