जनाब… यह है सब रजिस्ट्रार दफ्तर, जहां के मुलाजिमों की मानसकिता करती है शर्मसार

जनाब… यह है सब रजिस्ट्रार दफ्तर, जहां के मुलाजिमों की मानसकिता करती है शर्मसार

जालन्धर (लखबीर)

सरकारी दफ्तरों में मुलाजिमों की कामचोरी की आदत का जनता को हरजना भुगतना पड़ता है। ऐसा नहीं कि यह कामचोर मुलाजिम पूरा दिन खाली बैठे रहते हों क्योंकि इन्होंने आपने मन परचावे के लिए समार्ट फोन रखे होते हैं, जहां पूरा दिन रंग बिरंगी फिल्में देख कर टाइम पास करते दिखाई देते हैं। इसी तरह का मामला सब रजिस्ट्रार दफ्तर जालन्धर-1 में देखने को मिला, जहां का एक आरसी इसी तरह की मानसिकता का शिकार हो चुका है। इसने आपना काम निपटाने के लिए आगे प्राइवेट करिंदे को पाल रखा है, जो इसके हर तरह के काम को निपटाता आ रहा है।

आराम फरमाते करिंदा व आरसी तथा बाहर खड़े लोग।

भाड़ में जाए जनता, आपना रहे फोन चलता…

आरसी व उसका प्राइवेट करिंदा हमेशा फोन पर आपने आप को बिजी रखते हैं, चाहे काउंटर के बाहर लोगों की जितनी भी भीड़ लगी रहे। फोन में बिजी रहने वाले दोनों महारथियों को कभी कोई परवाह नहीं रहती कि उनकी इस आदत कारण जनता कितनी परेशान होती होगी। लोगों की मानें तो इनका काम फोन पर हमेशा चलता रहता है।

फोन पर सैटिंग…

उक्त आरसी इतना शातिर है कि इसने आपना मोबाइल नंबर आगे वसीका नवीसों को बांट रखा है ताकि सारी सैटिंग वह फोन पर ही करता रहे। लोगों की मानें तो उक्त आरसी हमेशा फोन पर बिज्जी रहता है तथा काम करवाने आने वाले लोगों को खूब परेशान करता है। फोन पर सैटिंग के जरिए आपने खासमखास वसीका नवीसों के काम करके मोटी कमाई करता आ रहा है।

पहले भी रह चुका चर्चा में…

आराम फरमाने की आदत का शौकीन आरसी पहले भी चर्चा में रह चुका है। पहले भी कई तरह के मामलों में इसका नाम उछलता आ रहा है पर उसने आपनी आदत में कोई सुधार करने की कोशिश नहीं की तथा फिर से आपने पुराने कामों को अंजाम देने में जुट गया।

प्राइवेट करिंदे को भी हिस्सा…

इस आरसी ने जिस प्राइवेट करिंदे को दफ्तर में सैट कर रखा है, उसके जरिए सारा काम कम्पूटर पर करवाता है तथा पूरे दिन की काली कमाई का बड़ा हिस्सा उक्त प्राइवेट करिंदे को भी देता आ रहा है ताकि वह इसके काले कामों की पोल न खोल सके। इतना ही नहीं उक्त प्राइवेट करिंदा भी इतना माल अन्दर चुका है कि इसने कई प्रापर्टीयां इकट्ठी कर ली है, जिसकी जांच के बाद कई तरह के खुलासे हो सकते हैं।