कुआरे बुड्ढे कर्लक ते बिल्लू बकरे दी जोड़ी… इक अन्ना ते दूजा …?

कुआरे बुड्ढे कर्लक ते बिल्लू बकरे दी जोड़ी… इक अन्ना ते दूजा …?

गुस्ताखी माफ! पर सच्च है…

जालन्धर (लखबीर)

जिले दे मलाईदार विभाग च इक कर्लक ते वसीका नवीस दी जोड़ी इस समय पूरी तरह छाई होई है। इह जोड़ी हर रोज कई तरां दे गुल्ल खिलाके लुट्ट मचाउंदी आ रही है। अजेहा नहीं कि इस लुट्ट बारे सीट ते बैठे अधिकारी नू पता न होवे पर ओह भी बिल्ली नू देख के जिदां कबूतर अक्खां बंद कर लैंदा है, उसे तरां अनजान बणिया होया है। एह जोड़ी इक बुड्डे कुआरे कर्लक ते बिल्लू बकरे दी है। लम्बे समय तों दोनां ने दफतर अंदर आपना जाल बिछाया होया है ते लगातार लुट मचाई होई है। हुण गल्ल करदे हां मुद्दे दी…

गुस्ताखी माफ! पर सच्च है…

शाम नू लगदीयां महफलां…

बुड्डे कुआरे कर्लक ते बिल्लू बकरे दी दोस्ती शायद ही किसे कोलों लुक्की होवे। लम्बे समय तों दोनों रल्ल के गड़बड़ घोटाले करदे आ रहे हन। इन्ना ही नहीं रोजाना जिथे बिल्लू बकरे दे दफ्तर च काली कमाई दी वंड हुंदी है, उथे दूजे पासे शाम नू जश्न भी मनाए जांदे हन। शाम नू महफलां दा दौर शुरू हो जांदा है। होर तां होर इह महफलां भी काली कमाई दी ऐवरेज दे हिसाब नाल सजदियां हन।

गुस्ताखी माफ! पर सच्च है…

दफतर हुंदा बिल्लू बकरे दे हवाले…

लो जी, हैरानी दी गल्ल है कि शाम ढलदियां ही बुड्डे कुआरे कर्लक दे इशारे ते दफतर दे सारे दसतावेज बिल्लू बकरे दे हवाले हो जांदे हन। किहड़े वसीका नवीस ने किन्ना कम्म करवाया ते किहड़े डीलर नू वसीका नवीस नालों तोड़ना है, इह सब भी कागज फरोलन तों बाद बिल्लू बकरा तय करदा है। इस तों पहलां तां बहीयां बनाउण दे चक्कर च सारे दसतावेज ही बिल्लू बकरे दे दफ्तर पहुंच जांदे सन पर शिकायत होण तों बाद इह कम्म बंद हो गया है।

गुस्ताखी माफ! पर सच्च है…

गड्डी भी बिल्लू बकरे दी…

बुड्डा कुआरा कर्लक जिस वाहन दी सवारी करदा है, उह भी बिल्लू बकरे ने आपने खर्चे तों उसनूं लै के दित्ती होई है। बुड्डा कुआरा कर्लक बहुत ही शान नाल उस गड्डी दी सवारी लम्बे समय तों करदा आ रेहा है। इन्ना ही नहीं जदों बुड्डा कुआरा कर्लक शहर तों बाहर ड्यूटी ते जांदा सी तां उसनूं छड्ड के अते लै के आउण दी ड्यूटी भी बिल्लू बकरे दा करिंदा ही निभाउंदा आ रेहा सी। इह कर्लक आपने आप नू शहर दे गुंडियां नाल रिश्ते होण दीयां भी लोकां नूं धमकियां दिंदा आ रेहा है तांकि उस नाल कोई पंगा न लै सके। …गल्ल अजे बाकी है…