महानगर में जुआरी, सट्टेबाज व लाटरीबाज हुए एक्टिव, ‘चाचू’ बना रहा सबको ‘मामू’

महानगर में जुआरी, सट्टेबाज व लाटरीबाज हुए एक्टिव, ‘चाचू’ बना रहा सबको ‘मामू’

जालन्धर (ब्यूरो)

वैसे तो महानगर के विभिन्न इलाकों में अवैध कारोबार पूरी तरह से फल-फूल चुका है पर जालन्धर के कई इलाके अवैध कारोबार की ग्रिफ्त में बुरी तरह से फंस चुके हैं। इसी तरह नार्थ के सोडल, किशनपुरा, लम्मा पिंड चौक, पठानकोट चौक, ढन्न मुहल्ला आदि इलाकों में अवैध कारोबार ने पूरी तरह से पैर पसार रखे हैं। इनमें से सोडल इलाका काफी तेजी से आगे बढ़ रहा है। रोजाना नए शराब तस्कर, जुआरी, लाटरीबाज व दड़े सट्टे वाले पैदा हो रहे हैं, जिस कारण इलाके का माहौल खराब हो रहा है। इसी तरह सोडल का चाचा जुए, अवैध लाटरी, दड़े सट्टे व मैचों में पैसा लगातार कर युवाओं का जीवन खराब कर रहा है।

कौन है सोडल के चाचा जी…

जी हां, सोडल का यह चाचा कोई ओर नहीं अवैध कारोबार चलाने वाला मोटू है। इस चाचे ने सोडल में आपने कई अड्डे स्थापित कर रखे हैं, जहां जुए, लाटरीबाजी से लेकर मैचों पर पैसे फिक्स करवा रहा है। आपने आप को साफ छवि वाला बताने वाला यह चाचा नौजवानों को चौक चुराहों में नाकों से छुड़वा कर सहानभूति लेकर उन्हें अवैध कामों में फंसा लेता है।

अब खैर नहीं, दुश्मन हुए एक्टिव…

सोडल के चाचा जी (पिंकू) ने चाहे जितने भी नौजवानों के चालान भुगता कर या फिर नाकों से उन्हें बचाकर गलत कामों में धकेला हो पर बावजूद इसके उसके पुराने दुश्मन एक्टिव हो चुके हैं, जो कभी भी उसका काम निकलवा सकते हैं। जिन लोगों को शराब तस्करी के चक्कर में फंसा कर उन पर पर्चे दर्ज करवाए हैं, अब उनसे भी इसका बचना मुशिकल लग रहा है क्योंकि वह भी इसे गलत कामों के चलते कभी भी फंसा कर जेल में भिजवा सकते हैं। लोगों के अनुसार चाचा जी जल्दी ही सड़कों पर रुलते दिखाई देंगे।

पुलिस की चुप्पी कारण माहौल हो रहा खराब…

वहीं चाहे इलाके पुलिस द्वारा चौक में नाके लगाकर लोगों के मास्क या अन्य चालान धड़ल्ले से काटे जा रहे हैं पर इस तरह के गलत कामों में संलिप्त लोगों को पकड़ने में आपनी रुचि नहीं दिखा रही है। लोगों की मानें तो पुलिस को इन गलत कामों से कमाई हो रही है, जिस कारण वह मौन धारण करके बैठी है।