गुस्ताखी माफ! पर सच्च है… जनता दी कचिहरी च लेखे होणगे… ‘गिंदड़ीसिंघी वाले सिंग’ दे दूर भुलेखे होणगे…

गुस्ताखी माफ! पर सच्च है… जनता दी कचिहरी च लेखे होणगे… ‘गिंदड़ीसिंघी वाले सिंग’ दे दूर भुलेखे होणगे…

गुस्ताखी माफ! पर सच्च है…

जालन्धर (लखबीर)

मलाईदार विभाग च चली आ रही अंपाइंटमैंटां दी हेराफेरी ते अजे भी लगाम नहीं लग रही है। जिथे इक पासे लोकां नूं अंपाइंटमैंटां लई लम्मा समां इंतजार करना पै रेहा है, उथे दूजे पासे मिलीयां होईयां अंपाइंटमैंटां दे कैंसल होण दे घपले ते अजे भी रोक नहीं लग सकी है। लोकां दी मन्नी जावे तां इस विभाग च इक गिदड़सिंगी वाला ‘सिंग’ पिछले 6 सालां तों कुंडली मार के बैठा होया है, जो इस सारी गंदी गेम नूं चला रेहा है, जो मोटी कमाई दे लालच च लोकां दीयां भावनावां नाल खिलवाड़ करदा आ रेहा है। इसदी बदली न होण कारण विभाग दा इह सैक्शन One Man Show हो के रेह गया है। सूत्रां अनुसार इस ‘गिंदड़ीसिंघी वाले सिंग’ ने आपणीयां गोटियां इस तरह फिट कीतीयां होइयां हन कि अधिकारी भी इस नूं हत्थ पाउन तों डरदे प्रतीत हो रहे हन। लोकां च पूरी चर्चा बनी होई है कि शायद इसने उपर तों लै के हेठां तक विभाग दे सारे दे सारे अधिकारी ही खरीदे होए हन। चलो! हुण गल्ल करदे हां मुद्दे दी…

गुस्ताखी माफ! पर सच्च है…

साबका इंचार्ज नूं बनवा चुक्का बलि दा बकरा…

दस्स दिंदे हां कि इह ‘गिंदड़ीसिंघी वाला सिंग’ कोई बहुत वड्डा बंदा नहीं है, इसने सिर्फ आपनी कौड़ी जुबान अते लोकां नूं टुट-टुट के पैन करके आपणा रौब सैट कर लिया है पर इसदे पल्ले काली कमाई तों अलावा कुझ नहीं है। ‘गिंदड़ीसिंघी वाला सिंग’ हमेशा किसे न किसे कारण चर्चा च आउंदा रेहा है। हुण इक बार फिर इह अंपाइंटमैंटां दी गंदी गेम खेलन करके नजर च आया है। पुरानी गल्ल करिये तां साबका इंचार्ज नूं इसने हत्थां च लै के उस कोलों कई गलत कम्म करवाए सन। जदों फस्सन दी बारी आई तां उसदे अते उसदे साथियां खिलाफ पर्चे दर्ज करवाके आप सिधा ही मामले चों बाहर निकल गया सी। लोकां अनुसार जे इंचार्ज ने गलत कम्म कीता सी तां इसदा पूरा साथ सी क्योंकि ताली कदे इक हत्थ नाल नहीं बजदी।

गुस्ताखी माफ! पर सच्च है…

अंपाइंटमैंटां अते लाइसैंस कैंसल करने बन सकदे गले दी हड्डी…

ताजा मामले अनुसार अंपाइंटमैंटां दी गंदी गेम खेलना इस लई खतरा बन सकदी है। पिछले 6 सालां तों इक ही सीट ते कम्म करके करोड़ां रुपए अंदर चुकका है इह ‘गिंदड़ीसिंघी वाला सिंग’ पर हुण इसदे जनता दी कचहिरी च नबेड़े होणे शुरू हो गए हन। इस तों पहलां बिना परमिशन एचटीवी लाइसैंसां नूं भी कैंसल करके चर्चा च आया सी जिस तों बाद किसे न किसे तरां गोटियां फिट करके बच गया सी पर बच्चु हुण तेरा बच्चना मुशकिल हो गया है क्योंकि हुण तूं गरीब लोकां नाल धक्का कीता है।

गुस्ताखी माफ! पर सच्च है…

जायदादां दी जांच तों बाद होवेगा दुध दा दुध ते पानी दा पानी…

‘गिंदड़ीसिंघी वाले सिंग’ दा पिछौकड़ देखिया जावे तां कोडियां दा सी पर जदों दा इस सीट ते कब्जा कीता है, उदों दा ..ड नाल पत्तासे भन्न रेहा। जेकर इस दी पिछले 6 सालां तों बनाई जायदाद चैक करवाई जावे तां सारी कहानी सामने आ जाणी है कि इसने किद्दां गरीब लोकां नूं रगड़ा लगाया है अते इह भी पत्ता लग जाणा है कि इसने कुझ ही सालां च कौडियां तों करोड़ां दा सफर किदां तैय कीता है।