गुस्ताखी माफ! पर सच्च है… जदों साबका विधायक ने कीती वर्कर दी सिफारश ते अधिकारी ने फेरिया उसते पानी, विधायक दी होई किरकिरी

गुस्ताखी माफ! पर सच्च है… जदों साबका विधायक ने कीती वर्कर दी सिफारश ते अधिकारी ने फेरिया उसते पानी, विधायक दी होई किरकिरी

जालन्धर (लखबीर)

कहंदे ने के नवीं वयाही दे नखरे बोत हुंदे ने ते उह चौंके चढ़ण तों बाद भी कम्म अपनी मर्जी नाल ही करदी है। इसी तरां अज-कल मलाईदार महकमे च बदल के आया इक अधिकारी कर रेहा है। इह नईं कि अधिकारी कोई गलत कम्म कर रेहा है अते किसे गलत कम्म लई लोकां नूं जोर पा रेहा पर कम्म नूं लै के इसदे नखरे थोड़े ज्यादा ही लग रहे हन।

गुस्ताखी माफ! पर सच्च है…

इस अधिकारी नूं जुम्मां-जुम्मां अजे कुज दिन ही सीट संभाले नूं होए ने कि उसने सिफारशां करवा के कम्म करण वालियां नूं साफ तौर ते नांह कर दित्ती है। अजिहा ही मामला मंगलवार नूं उस समय सामने आया जदों इक साबका विधायक ने अपने वर्कर दे कम्म लई सिफारश कर दित्ती। साबका विधायक की सिफारश करण दा मौका वर्कर नूं उदों मिलिया जदों अधिकारी ने साफ तौर ते कह दित्ता कि उसदा कम्म हुण नहीं होया करेगा। फेर की सी उसने आपने आका साबका विधायक नूं फोन मिलाया ते सारी कहाणी दस्सी। विधायक ने अधिकारी नाल फोन ते गल्ल कीती तां अधिकारी ने आपना एटीटयूट दिखाउंदियां किहा के जनाब मैं इहदा कम्म नहीं करणा क्योंकि इहदे कागजां च बोत कम्मियां हन।

गुस्ताखी माफ! पर सच्च है…

ओधर विधायक ने जदों दस्सिया कि इह बंदा कोई आम नहीं साडी पार्टी दा पुराणा वर्कर है ते पुराणे अधिकारी इहदा कम्म पहलां तों ही करदे आ रहे हन पर अधिकारी ने कोई गल्ल नहीं सुनी ते कम्म करण तों साफ नांह कर दित्ती अते फोन कट्ट दित्ता। लोकां च चर्चा बनी रही के इस नाल वर्कर दे नाल-नाल साबका विधायक दी भी खूब किरकिरी होई है। हुण आण वाला समां दस्सेगा कि उक्त वर्कर दा कम्म होवेगा जा फिर उस नूं कम्म तों हत्थ धौने पैणगे।

गुस्ताखी माफ! पर सच्च है…