उछलने लगा ‘आईपीएस वसीका नवीस’ के पाप का घड़ा, इस संस्था ने अधिकारियों को जगाने के लिए बजाया शंखनाद….

कहते हैं पाप का घड़ा कभी न कभी भरकर उछलता जरूर है तथा जो लोग गलत काम करते हैं, उनका नतीजा भी उन्हें भुगतने के लिए तैयार रहना चाहिए। इसी तरह पुत्रमोह में जकड़े एक बाप ने कानून को छिक्के टांग कर डायरैक्ट आईपीएस बनाने की कोशिश की थी, जिसका पेंच अब बुरी तरह से फंस चुका है। जी हां, ‘आईपीएस वसीका नवीस’ के पिता ने अपने साथ 4 करोड़ की ठग्गी का हवाला देते हुए मामला ध्यान में लाया था। चाहे इस मामले में अभी तक प्रशासन व ‘आईपीएस वसीका नवीस’ के बाप के हाथ खाली प्रतीत हो रहे हैं पर वहीं दूसरी ओर उसने 4 करोड़ रुपए कहां से दिए गए हैं, यह सोचने वाली बात है। अब बात करते हैं मुद्दे की… इस मामले में चाहे प्रशासन व ‘आईपीएस वसीका नवीस’ का परिवार चुप्पी धारे बैठे हैं पर वहीं दूसरी इस मामले में पंजाब की ह्यूमन राइटस संस्था अपने कदम आगे बढ़ाने के लिए पहल शुरू करने जा रही है। संस्था के पंजाब चेयरमैन ने डीसी से लेकर ईडी व इन्कम टैक्स विभाग के उच्चाधिकारियों तक पहुंच करके दूध का दूध व पानी का पानी करने का ऐलान कर दिया है। संस्था अनुसार एक वसीका नवीस के पास इतना पैसा कहां से आया तथा उसने किस कानून के तहत चपड़ासी लगने के काबिल अपने पुत्र को आईपीएस बनाने की कोशिश की है, बारे पूरी डिटेल इक्टठी की जाएगी। साथ ही किन दस्तावेजों के आधार पर काम करवाया जा रहा था, के सबूत भी लोगों के सामने लाए जाएंगे।

डीसी क्यों हैं खामोश, आखिर क्यों नहीं मंगवा रहे रजिस्ट्र

संस्था अनुसार हैरानी की बात है कि एक वसीका नवीस ने 4 करोड़ रुपए की ठग्गी होने के आरोप लगाए हैं पर बावजूद इसके इस बात को जांचने की कोशिश नहीं की जा रही कि उसने यह आरोप किस आधार पर लगाए हैं तथा इनमें कितनी सच्चाई है। अगर वसीका नवीस के आरोप सही है तो यह सामने आना जरूरी है कि उसके पास इतनी रकम आई कहां से है। संस्था अनुसार वसीका नवीसी का काम करने वाले व्यक्ति की इन्कम टैक्स विभाग को छानबीन करने की गुहार लगाई जाएगी। वहीं इतने बड़े आरोपों के बाद भी डिप्टी कमिश्नर ने उक्त वसीका नवीस का रजिस्ट्र तक नहीं मंगवा है, जो हैरान करने वाली बात है।

….बाकी अगली बार