तहसील के एजेेंटों की नजर में ‘विधायकों की कीमत’ 20 रुपए

जालन्धर (विशाल)


आज-कल भ्रष्टाचार इस कदर चर्म सीमा पर पहुंच चुका है कि आम जनता को रगड़ा लगाने में एजेंट किसी तरह का गुरेज नहीं करते। इसी तरह का मामला तहसील काम्पलैक्स स्थित सेवा केन्द्र (सुविधा सैंटर) के बाहर देखने को मिला। जहां आधार कार्ड बनाने हेतु विधायकों तक के जाली लेटरपेड बांटे जा रहे हैं। इतना ही नहीं विधायक बावा हैनरी तथा विधायक रजिन्द्र बेरी के लेटरपेड की फोटो कापी करवा कर शरेआम धांधली मचाई जा रही है। इन विधायकों के लेटरपेड की एजेंट 20 रुपए कीमत डाल रहे हैं। 20 रुपए में लेटरपेड बेच कर शरेआम लूट मचाई जा रही है। लोगों अनुसार एजेंटों ने विधायकों के लेडरपेड को इस ढंग से साफ कर रखा है कि उस पर सिर्फ विधायक के हस्ताक्षर के अलावा कुछ नहीं दिखाई दे रहा। फिल्हाल यह मामला सिर्फ आधार कार्ड तक सीमत बताया जा रहा है पर लेटरपैड को अन्य फारमेल्टी के लिए भी इस्तेमाल किया जाता हो, से भी इन्कार नहीं किया जा सकता। वहीं दूसरी ओर जब महिला एजेंट जोकि विधायकों के जाली लेटरपेड 20 रुपए में बेच रही है, से बात की तो उसने कहा कि अब आधार कार्ड के लिए इसे नहीं बेचा जाता क्योंकि नई पालिसी के अधीन लेटरपेड बंद कर दिए गए हैं।