चपड़ासी लगने के काबिल था करोड़पति वसीका नवीस का सपूत… बाप के सपूत को आईपीएस बनवाने के ख्वाब ने उड़वाई खिल्ली…. वसीका नवीस ने जाली कागजात व रिश्वत का लिया सहारा

चपड़ासी लगने के काबिल था करोड़पति वसीका नवीस का सपूत… बाप के सपूत को आईपीएस बनवाने के ख्वाब ने उड़वाई खिल्ली…. वसीका नवीस ने जाली कागजात व रिश्वत का लिया सहारा

जालन्धर (ब्यूरो)
लोगों में चर्चा का विषय बने आईपीएस वसीका नवीस व उसके बाप की खूब किरकिरी हो रही है। मुलाजिमों के अलावा अधिकारियों के लिए भी चर्चा बन चुके आईपीएस वसीका नवीस व उसके बाप की खूब खिल्ली उड़ रही है। वहीं दूसरी ओर इस मामले में कुछ समाज सेवी संस्थाएं भी सामने आने को तैयार हो चुकी है, जिनका कहना के वसीका नवीस के पास इतनी बड़ी रकम होने की पुष्टि के बाद भी अधिकारी गहरी नींद में हैं, जिन्हें जगाने के यत्न किए जाएंगे। उनके मुताबिक अगर अधिकारी इस ओर कोई कदम नहीं उठाते हैं तो यह बिल्कुल साफ है कि उक्त वसीका नवीस की गलत कमाई में उनका भी पूरा सहयोग था।  चलो…अब बात करते हैं मुद्दे की….
आईपीएस वसीका नवीस की शिक्षा की बात की जाए तो वह एक चपड़ासी से ऊपर नहीं है। सूत्रों अनुसार आईपीएस वसीका नवीस जी सिर्फ ओर सिर्फ +12 तक ही पढ़ाई करने तक सीमत हैं पर बावजूद इसके आईपीएस बनने का सपना देख रहे थे, जो कभी पूरा नहीं हो सका। हैरानी है कि जहां एक ओर पंजाब सरकार ने नोटिफिकेशन जारी करते हुए शिक्षाग्रहण के हिसाब से नौकरियों को कैटागिरी में बांट रखा है, वहीं दूसरी ओर एक वसीका नवीस का +12 पास बेटा हवा में आईपीएस तक बन गया। पंजाब सरकार की कैटेगिरी में +12 तक सिर्फ कलास-4 ही भर्ती किया जा सकता है तथा इसके साथ ही बीए करने वाला व्यक्ति कलर्क की पोस्ट पर लग सकता है। अगर हम सूत्रों के हवाले से बात करें आईपीएसस वसीका नवीस +12 तक पढ़ा है पर बावजूद इसके आईपीएस सरकार की किस सुविधा से लगना चाहता था, समझ से परे की बात है। +12 वह भी सबसे कम नंबरों में पास करने वाला आईपीएस वसीका नवीस इतनी बड़ी पोस्ट पर काम करने के लिए सिर्फ गलत कागजात व रिश्वतखोरी के सहारे ही काबिल बना था, जिसका जल्दी पर्दाफाश किया जाएगा।

डीसी व अन्य विभागों ने क्यों धारी चुप्पी…

हैरानी की बात है कि एक वसीका नवीस ने 4 करोड़ रुपए की ठग्गी होने का आरोप लगाया है पर बावजूद इसके इस बात को जांचने की कोशिश नहीं की जा रही कि वसीका नवीस के पास इतनी रकम आई कहां से। अभी तक डीसी व अन्य विभागों के अधिकारियों ने उक्त करोड़पति वसीका नवीस का रजिस्ट्र तक नहीं मंगवाने की जहमत तक नहीं उठाई है। अगर उसके रजिस्ट्र को जांचा जाए तो सब साफ हो जाएगा कि उसके पास कौन सा अल्लदीन का चिराग है जिसे रगड़ते करोड़ों रुपए उसके पास आ गए।

अभी ओर बाकी हैं बाप-बेटे के कारनामों की लिस्ट…