जालन्धर के वसीका नवीस कैसे बन रहे करोड़पति… ‘आईपीएस’ वसीका नवीस कर रहा 400 रु. दिहाड़ी वाला काम

जालन्धर के वसीका नवीस कैसे बन रहे करोड़पति… ‘आईपीएस’ वसीका नवीस कर रहा 400 रु. दिहाड़ी वाला काम

जालन्धर (ब्यूरो)
करीब एक महीना पहले जालन्धर में बड़ी ठग्गी का मामला प्रकाश में आया था। इसमें एक वसीका नवीस द्वारा 4 करोड़ रुपए की ठग्गी के आरोप लगाए गए थे। मामले में वसीका नवीस ने बेटे को डायरैक्ट आई.पी.सी. भर्ती करवाने के नाम ठग्गी होने की बात कही थी। हैरानी रही कि वसीका नवीस ने इस ठग्गी के बारे पूरे दस्तावेज तथा सबूत होने का भी दावा किया था पर बावजूद इसके कार्रवाई के लिए कुछ खास प्रयत्न नहीं किए, जिस कारण मामला अभी तक किसी भी विभाग में सही ढंग से शुरू ही नहीं हो सका। वहीं दूसरी ओर सूत्र बताते हैं कि वसीका नवीस आपने आप को फंसता देख उक्त मामला आगे चलाने के लिए घबरा रहा है। लोगों अनुसार किसी से भी ठग्गी होना गलत है पर इतनी बड़ी ठग्गी वो भी किसी को सीधा आईपीएस भर्ती के नाम पर होना हैरानी वाली बात है। वहीं दूसरी ओर देखा जाए तो वसीका नवीस ने भी कानून को छिक्के टांग कर काम करवाने की कोशिश की है, जिस कारण छानबीन होना जरूरी है। अब बात करते हैं मुद्दे की….
मुद्दे की बात यह है कि एक मामूली वसीका नवीस के पास इतनी रकम आई कहां से। सूत्रों अनुसार परिवार में सिर्फ एक व्यक्ति कमाने वाला होने के बावजूद इतनी रकम किसी सीधे काम से इकट्ठी करना बहुत मुशिकल है। अगर सिर्फ वसीका नवीसी के काम से इतनी दौलत बन सकती है तो तहसील का प्रत्येक वसीका नवीस करोड़पति होना चाहिए। लोगों अनुसार अगर रजिस्ट्री लिखने वाला करोड़पति है तो इससे संबंधित अधिकारी के अरबपति होने की संभावना से इन्कार नहीं किया जा सकता।

आखिर खुद क्यों भाग रहा वसीका नवीस…

सूत्रों अनुसार उक्त वसीका नवीस जिसके साथ करोड़ों की ठग्गी का मामला सामने आया है, जिसे उनसे खुद कबूल किया है पर वह खुद कार्रवाई से भाग रहा है, जो हैरानी वाली बात है। वसीका नवीस के कार्रवाई से भागने से दाल में कुछ काले वाली बात लग रही है, जिसे जल्दी साफ करने की कोशिश की जाएगी।

अधिकारियों की चुप्पी बन रही सवाल……..बाकी अगली किश्त में