लो जी टैस्ट ट्रैक पर मिल गई एक ओर आफर…. अदा करो रुपए 500 ओर हो जाओ पास…लाइसैंस पास करवाने के लिए अब नहीं करनी पड़ेगी कोई ज्यादा मुशक्कत… सड़क दर्घटनाएं करवाने में सबसे बड़ा हाथ समार्ट चिप कंपनी के कुछ मुलाजिमों का…

ट्रैक पर ही हो जाती है बंदरबांट…

वटसऐप को बनाया सहारा…

नहीं होने दी जाएगी लोगों से लूट – लोक इंसाफ पार्टी

नहीं होता कोई गलत काम -इंचार्ज

जालन्धर (ब्यूरो)
आरटीए दफ्तर के अधिकारी इस कदर कामों में व्यस्त हैं कि उन्हें पता ही नहीं चल पा रहा है कि उनके अधीन चल रहे आनलाईन ड्राइविंग टैस्ट ट्रैक पर क्या हो रहा है। टैस्ट ट्रैक पर रोजाना बड़ी मात्रा में लोगों को शिकार बनाया जा रहा है, जिस तहत समार्ट चिप कंपनी अधीन काम करने वाले बहुत सारे मुलाजिम जनता की जेबों पर डाका मार रहे हैं। इसके साथ ही एजैंटों को वीआईपी सुविधाएं प्रदान की जा रही हैं। बतादें कि ट्रैक पर रोजाना बड़ी गिनती में एजैंटों का मेला लगता है, जो लोगों के साथ-साथ अधिकारियों के लिए भी सिरदर्दी बन चुका है। अधिकारियों के बार-बार रोकने पर भी ट्रैक इंचार्ज इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहे। अगर लोगों की मानें तो एजैटों से होने वाली काली कमाई का बड़ा हिस्सा इंचार्ज की जेब में जाता है। ये तो रही एजैंटों से काली कमाई की बात। अब बात करते हैं मुद्दे की….

अधिकारियों की अनदेखी कारण ट्रैक पर सरेआम गलत कामों को अंजाम दिया जा रहा है। यह नहीं कि इस संबंधी ट्रैक के सीनियर मुलाजिमों को पता ना हो बल्कि उनकी हाजरी व सहमती से इन कामों को अंजाम तक पहुंचाया जा रहा है। ट्रैक पर एक लर्निंग टैस्ट पास करवाने के लिए आम आवेदक को कई तरह के पड़ावों से गुजरना पड़ता है पर एजैंटों द्वारा भेजे जाते आवेदक बेप्रवाह टैस्ट पास करवा सकते हैं।

ट्रैक पर ही हो जाती है बंदरबांट…

टैब टैस्ट के नाम पर प्रत्येक व्यक्ति से 500 रुपए तक वसूले जाते हैं जिसकी सीधे-सीधे ट्रैक पर ही बंदरबांट कर ली जाते है, जबकि इस सारे मामले से ऊपर बैठे अधिकारी बिल्कुल अनजान हैं, जिन्हें इस काम की भनक तक नहीं लगने दी जाती। जागरूक लोगों ने इस सबंधी सबूत भी इक्टठे कर रखे हैं, जिसके जनतक होते ही इस तरह के मुलाजिमों की शामत आ जाएगी।

वटसऐप को बनाया सहारा…

इतना ही नहीं जो बड़े एजैंट ट्रैक पर नहीं पहुंच पाते उन्हें सोशल मीडिया की सुविधा भी प्रदान की जाती है। उनके आवेदक की डिटेल वटसऐप जरिए पहुंच जाती है तथा आवेदक पास कर दिया जाता है।

नहीं होता कोई गलत काम : इंचार्ज

ट्रैक इंचार्ज मनिन्द्र सिंह ने कहा कि ट्रैक पर इस तरह कोई काम नहीं किया जाता। फिर भी चैक किया जाएगा अगर कोई मुलाजिम इस तरह करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई जरूर करवाई जाएगी।

नहीं होने दी जाएगी लोगों से लूट : लोक इंसाफ पार्टी

इस सबंधी लोक इंसाफ पार्टी ने कड़ा संज्ञान लेते हुए मामले में हस्तक्षेप करने का फैसला किया है। जिला प्रधान जसबीर सिंह बग्गा ने कहा कि ट्रैक पर हो रही जनता की लूट को किसी हाल में बर्दाशत नहीं किया जाएगा। उनके पास पैसे लेकर पास किए गए लाइसैंसों की पूरी डिटेल पहुंच गई है, जिसके सहारे जल्दी ही अन्य खुलासे किए जाएंगे तथा इसमें शामिल किसी भी मुलाजिम को बख्शा नहीं जाएगा। बग्गा ने कहा कि सड़क हादसे होने में सबसे बड़ा हाथ समार्ट चिप कंपनी के लालची मुलाजिमों का माना जा सकता है।