जालंधर के तीन नंबर‌दारो के नंबरदारी क‌डुकी में, ये महार्थी गलत गवाहियां डालने के साथ-साथ जनरल को एससी भी बना सकते हैं…. जल्दी ही लग सकता है तीनों नंबरदारों का नंबर

जालंधर के तीन नंबर‌दारो के नंबरदारी क‌डुकी में, ये महार्थी गलत गवाहियां डालने के साथ-साथ जनरल को एससी भी बना सकते हैं…. जल्दी ही लग सकता है तीनों नंबरदारों का नंबर

जालन्धर (लखबीर)
जालंधर तहसील में तीन ऐसे नंबरदार सक्रिय हो चुके हैं जो कई मामलों में फंस चुके हैं। लोगों अनुसार अधिकारियों की मिलीभुगत के बिना नंबरदार या कोई भी मुलाजिम गलत काम नहीं कर सकता। विभाग के ही मुलाजिमों की मिलीभुगत तथा तनखाह से अधिक पैसे कमाने की लालसा घिनौने कामों में अहूती डालने के लिए मजबूर करती है।

जनरल को एससी बनाने वाला नंबरदार…

जहां एक और प्रशासनिक अधिकारियों को नजरअंदाज कर इधर-उधर की मोहरें रंग लगा रहा है, वहीं दूसरी ओर एक नंबरदार ने तो हद ही मिटा दी है। बता दें कि इस नंबरदार जनरल व्यक्ति को एससी (शेड्यूल कास्ट) बनाकर पंचायती चुनाव जीता दिए जिसके विरोध स्वरूप लोगों ने मोर्चा खोल दिया। लोगों अनुसार उक्त नंबरदार पहले भी इस तरह के मामलों में अहम भूमिका निभाता आ रहा है। नए मामले संबंधी अधिकारियों ने जांच में कार्रवाई के लिए हरी झंडी दिखा दी है।

जाली गवाहियां डालने वाला नंबरदार…

इसी तरह के ज्दारातर गल्त गवाहियां डालने में मशहूर नंबरदार भी कैलाश पर चढ़ चुका है। उसने कैलाश तक का सफर सिर्फ तो सिर्फ गलत कामों में गवाहियां डालकर ही किया है। कुछ महीने पहले सरकारी जमीन की रजिस्ट्री में भी इसी नंबरदार ने मोटी रकम वसूल कर गवाही डाली थी, जिस में यह साफ तौर पर फंसता दिखाई दे रहा है। नंबरदार ने उस रजिस्ट्री पर गवाही डाल दी, जिसे कुछ भू-माफिया के सौदागरों ने अपनी पत्नियों के नाम पर करवा रखी है। इस सरकारी जमीन की रजिस्ट्री करवाने में नंबरदार का अहम रोल माना जा रहा है।

करोड़ों की जमीन हड़पने वाला नंबरदार…

सरकारी जमीन पर हमेशा अपनी बिल्लियां आंखें गड़ाए बैठने वाला एक नंबरदार इस तरह सक्रिय है कि उसने इस तरह की कई सरकारी जमीनों पर अपनी नजर रखी हुई है। हैरानी की बात तो किस तरह उसने जमीनों पर अपना दावा ठोक रखा है। इसी तरह सरकारी जमीन चाहे वह वक्फ बोर्ड की हो या केन्द्र सरकार की हो, उस पर अपनी बिल्लियां आंखें गड़ाए रहता है। लोगों अनुसार तहसील के कर्लकों व सेल विभाग के अधिकारियों को साथ मिलाकर काम को अंजाम देता आ रहा है। नए मामले में तो इसने अपने आपको बचाने के लिए पत्नी का सहारा ले रखा है। नंबरदार की इस भूमिका में तहसील के कुछ अधिकारी भी शामिल हैं जो इसके घिनौने कामों में अपने हाथ रंग चुके हैं। अब देखते हैं कि यह मामला किस ओर करवट बदलता है।