साहिब दा लाडला फिर बिगड़ गया…  एम.सी. बना इस साहिब का ड्राइवर, बनी वीडियो

साहिब दा लाडला फिर बिगड़ गया… एम.सी. बना इस साहिब का ड्राइवर, बनी वीडियो

जालन्धर (लखबीर)

मशहूर पंजाबी गाना है कि मां दा लाडला बिगड़ गया.. चाहे गाने वाला मां का लाडला किसी तरह सुधर भी गया हो पर जिले के एक साहिब का लाडला सुधरने का नाम नहीं ले रहा है। यह लाडला बार-बार बिगड़ रहा है, जिसका पहले भी कई बार इलाज किया गया है पर वह फिर से पुरानी हरकतों पर उतर आता है। साहिब का लाडला अब फिर से एम. सी. बना चुका है। ड्राइवर को एम. सी. की पदवी प्रशासन या किसी अधिकारी द्वारा नहीं बल्कि उसने खुद ही ली। यह एम.सी. नगर निगम वाला नहीं बल्कि पैसे इक्ट्ठे करना वाला है। एम. सी. का मतलब है मनी कुलैक्टर।  

For News and Advertisement

कैसे करता है काम…

ड्राइवर एम. सी. बनने के बाद वहां काम करवाने के लिए आने वाले लोगों से पैसे इकट्ठे करता आ रहा है। पिछले कई दिनों से चल रहे इस गौरखधंधे संबंधी अधिकारी या किसी कलर्क को सूचना भी नहीं है। आपने बलबूते पर यह ड्राइवर लगातार गुंडा टैक्स वसूलता आ रहा है।

पहले भी रहा चर्चा में…

ड्राइवर के साथ-साथ एम. सी. बने इस लाडले के हौसले इतने बुलंद हैं कि वह पहले भी इस तरह के काम को अंजाम देता काबू आ चुका है। इसकी जानकारी अधिकारी को मिली थी तो उसने दफ्तर से छूमंत्र करवा दिया था। 6 महीने रफ्फू चक्कर होने के बाद फिर से दफ्तर आने के बाद उसने आपने कारनामों को अंजाम देना शुरू कर दिया है।

For News and Advertisement

 

एम. सी. की वीडियो भी बनी…

ड्राइवर के कारनामों की एक जागरूक व्यक्ति ने वीडियो बना ली है। व्यक्ति की मानें तो वीडियो में इसके कारनामों की पूरी लिस्ट रिकार्ड हो चुकी है, जिसका आने वाले समय में खुलासा हो सकता है।

अधिकारी को जाता है हिस्सा…

लोगों में चर्चा है कि ड्राइवर द्वारा इकट्ठे की जाती माया में से बड़ा हिस्सा अधिकारी की गोलक में भी डाला जा रहा है क्योंकि बिना अधिकारी की छत्रछाया के ड्राइवर इतनी हिम्मत नहीं दिखा सकता है।