बे-शर्म कालोनाइजर… विभाग का लगा चेतावनी बोर्ड उखाड़ा

बे-शर्म कालोनाइजर… विभाग का लगा चेतावनी बोर्ड उखाड़ा

जालन्धर (लखबीर)

पुरानी कहावत है कि लातों के भूत बातों से नहीं मानते… जो आज कल कुछ कालोनाइजरों पर बिल्कुल स्टीक बैठती दिखाई दे रही है। जी हां, चाहे पुडा व नगर निगम ने अवैध कालोनाइजरों पर पूरी सख्ती कर रखी है तथा पुलिस द्वारा अवैध कालोनियां काटने वालों पर हर रोज पर्चे दर्ज किए जा रहे हैं पर बावजूद इसके कुछ बेशर्म कालोनाइजर इसे हलके में लेते आ रहे हैं। पुलिस प्रशासन, नगर निगम व पुड्डा को शरेआम चुनौती देने वाले कालोनाइजरों ने विभाग द्वारा लगाए चेतावनी बोर्ड भी उखाड़ दिए हैं, जिसके चलते अवैध कालोनी काटने के साथ-साथ बोर्ड उखाड़ने का पर्चा भी दर्ज हो सकता है। गांव कानपुर, बुलंदपुर, शेखे, कोटला आदि में अवैध कालोनाइजर खूब चर्चा में बने हुए हैं।

कुत्ते कर रहे पेशाब…

इतना ही नहीं जिन कालोनाइजरों ने दबंगगिरी दिखा कर बोर्ड उतार दिए हैं, उनको हर हाल में सजा मिलनी तय है। विभाग द्वारा लगाए गए चेतावनी बोर्डों का बुरा हशर करके किसी कोने में दफन कर दिया गया है अब उन बोर्डों पर कुत्ते पेशाब कर रहे हैं।

कुछ पर नोटों की गर्मी तथा कईयों को राजैनितक समर्थन…

जिन कालोनाइजरों पर दबंगगिरी का भूत सवार हो चुका है, उनमें से कुछ यह सोच रहे हैं कि वह चाहे कुछ भी जायज नाजायज कर लें, वह नोटों से सब कुछ ठीक कर सकते हैं, वहीं कुछ ने आपने आप को किसी न किसी सियासी पार्टी से जोड़ रखा है ताकि वह आपने अवैध कामों पर पर्दा डाल सकें पर इस बार प्रशासन किसी को भी छोड़ने वाला नहीं है, इन सब के खिलाफ सख्त कार्रवाई जरूर होगी।

बिना मनजूरी वाली कालोनी पर लगाया अप्रूवड का बोर्ड…

इसी तरह एक कालोनाइजर ने इतना हौसला दिखाया है कि उसने बिना पुडा की मनजूरी के कालोनी के बाहर पुडा अप्रूवड कालोनी का बोर्ड लगा रखा है, जिस कारण वह लोगों के साथ-साथ विभाग को भी बेवकूफ बनाता आ रहा है। लोगों को पुडा अप्रूवड कालोनी बता उनको खूब रगड़ा लगाया जा रहा है।  

जल्दी होगी शिकायत – कालिया

दबंग अवैध कालोनाइजरों खिलाफ चेतावनी बोर्ड उतारने व अवैध कालोनी काटने  संबंधी शिकायत दर्ज होगी। पवन कालिया ने बताया कि उक्त कालोनाइजरों के दबंगगिरी के पूरे सबूत इकट्ठे हो चुके हैं जिनके आधार पर शिकायत दर्ज करवाई जाएगी तथा इस घिनौनी हरकत में विभाग के जो मुलाजिम या अधिकारी शामिल होंगे, उनको भी नहीं बख्शा जाएगा।